NDTVBusinessHindiMoviesCricketHealthFoodTechAutoSwasthதமிழ்বাংলাAppsTrainsArt
ADVERTISEMENT

महिलाओं का खतना के बारे में जानिए सबकुछ, कैसे और क्यों किया जाता है ये दर्दभरा Khatna

खतना (Khatna) को मानने वाले समुदायों के अनुसार महिलाओं का खतना करने से उनमें सेक्स की इच्छा कम हो जाती है, इससे वो अपने पति के प्रति ज्यादा वफादार रहती हैं.

महिलाओं का खतना के बारे में जानिए सबकुछ, कैसे और क्यों किया जाता है ये दर्दभरा Khatna

महिलाओं का खतना कैसे किया जाता है?

हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय ने दाउदी बोहरा समुदाय में महिलाओं का खतना (Khatna) को भारतीय दंड संहिता और बाल यौन अपराध सुरक्षा कानून (पोक्सो एक्ट) के तहत अपराध बताया. 15 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ पंरपरा के नाम पर किए जाने वाले इस काम की कठोर निंदा की. साथ ही बताया गया कि इस परंपरा पर 42 देशों ने रोक लगा दी है, जिनमें 27 अफ्रीकी देश हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इस पर प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता बताई है. लेकिन बावजूद इसके छोटी बच्चियों के साथ कि जाने वाली इस प्रक्रिया के मामले कम नहीं हो रहे. आज भी कई जगहों पर महिलाओं का खतना (Female Genital Mutilation) किया जाता है और तर्क दिया जाता है कि ऐसा करने से महिलाओं में सेक्स की इच्छा खत्म हो जाती है. 

Male Birth Control: कंडोम ही नहीं इन 4 तरीकों से पुरुष भी रोक सकते हैं अनचाही प्रेग्नेंसी

आप भी यहां जानिए इस महिलाओं के साथ की जाने वाली इस खतरनाक 'खतना' प्रक्रिया के बारे में सबकुछ.

दिल्ली का रेड लाइट एरिया : छोटे से कमरे में ऐसी होती है सेक्स वर्कर की LIFE

bq8q1nd

क्या होता है खतना?
यह कार्य नवजात शिशुओं और 15 साल तक की बच्चियों के साथ किया जाता है. नवजात शिशुओं (पुरुष) के लिंग के ऊपरी हिस्से की त्वचा को हटा दिया जाता है. जो फिर दोबारा नहीं आती. वहीं, बच्चियों की योनी के बाहरी हिस्से (क्लिटोरिस) को हटा दिया जाता है. 

सेक्‍स के बाद क्‍यों चिड़चिड़े और दुखी हो जाते हैं पुरुष? जानिए PCD के बारे में

क्यों किया जाता है खतना?
खतना को मानने वाले समुदायों के अनुसार महिलाओं का खतना करने से उनमें सेक्स की इच्छा को खत्म किया जाता है. इस प्रक्रिया से उनका चाल-चलन नहीं बिगड़ता और वो अपने पति के प्रति ज्यादा वफादार रहती हैं. 

महिलाओं का खतना कैसे किया जाता है?
खतना की इस प्रक्रिया में महिलाओं की योनी के क्लिटोरिस नाम के हिस्से को ब्लेड से हटा दिया जाता है. वहीं, कई बार इस खतना में योनी को सिलना या फिर पूरी क्लिटोरिस को हटा दिया जाता है. 

अगर कम है Sperm काउंट तो ये इंजेक्शन करेगा मदद

महिलाओं के खतना का नुकसान?
खतना की पूरी प्रक्रिया बहुत दर्दनाक होती है, क्योंकि इस दौरान बच्चियों को पूरे होश में रखा जाता है. इसमें किसी भी प्रकार का एनेस्थीसिया या बेहोश करने वाली दवा नहीं दी जाती. खतना के बाद महिलाओं के अंडाशय में गांठ, पेशाब करने में दर्द और बाद में संक्रमण, जन्म के दौरान ही शिशुओं की मृत्यु, बांझपन, पीरियड्स में समस्या, योनी में सूजन, दर्द और खुजली की समस्या रहती है. 

महिलाओं के खतना के फायदे?
खतना को मानने वाले समुदायों और देशों के अनुसार इससे लिंग और सेक्स समस्याएं जैसे HIV-AIDS का खतरा कम हो जाता है. गुप्तांग संबंधी कैंसर का खतरा कम हो जाता है और गुप्तागों में संक्रमण नहीं होता. हालांकि इस फायदों को मेडिकल रूप से मान्यता नहीं दी गई है. 

Sperm एलर्जी क्या है? जानिए इसके बारे में सबकुछ

VIDEO: तीन तलाक बराबरी के हक़ का उल्‍लंघन?

Comments



फैशन, ब्‍यूटी, हेल्‍थ, ट्रैवल, प्रेग्‍नेंसी, पेरेंटिंग, सेक्‍स और रिलेशनश‍िप से जुड़े तमाम अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.

ADVERTISEMENT