NDTVBusinessहिन्दीMoviesCricketTechWeb StoriesHopFoodAutoSwasthLifestyleHealthবাংলাதமிழ்AppsArt
ADVERTISEMENT

टीन्स के साथ क्वारंटाइन में रह रहे पेरेंट्स के लिए बेस्ट Lockdown Tips

Swirlster Picks टीम उन्‍हीं चीजों के बारे में लिखती है जो हमारे विचार से आपको पसंद आ सकती हैं. Swirlster ने यह पार्टनरशिप की है ताकि आप जो भी खरीदें उस रेवेन्‍यू में कुछ हिस्‍सा हमें भी मिल सके.

मुश्किल वक्त में ऐसे करें टीनेजर्स की देखभाल

पेरेंट्स को पता होता है कि टीनेजर्स के साथ किस तरह की समस्याएं आती हैं. एटिट्यूड में बदलाव होने से लेकर अचानक मूड बदलजाने तक सभी टीनेजर्स को बढ़ा करने के साइड इफेक्ट हैं. यह बहुत नाजुक उम्र होती है और इस वजह से उन्हें सही तरह से बढ़ा करना और अच्छा इंसान बनाना बेहद अङम होता है. फिलहाल लॉकडाउन के कारण टीन्स के साथ घर में बंद माता पिता के लिए और भी मुश्किल है. फिलहाल के लिए क्वारंटाइन के कारण उनका शेड्यूल भी पूरी तरह से बदल गया है. दिन के हर घंट 4 दिवारी में रहना काफी फ्रस्ट्रेटिंग हो जाता है.

हालांकि, यह मुम्किन है कि आप घर पर ही अपने बच्चों के लिए सकारात्मक माहौल बना सकते हैं. डॉ. जॉन कोलमैन के मुताबिक, जितना अधिक माता-पिता या युवा टीनेजर्स को समझ पाते हैं, यह उनके लिए उतना अच्छा होता है. पेरेंट्स के लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि बचेच इस उम्र में कई सारे बदलाव महसूस करते हैं और कई बार उनके दोस्त भी बदल जाते हैं. 

यह पेरेंट्स टिप माता और पिता को कोरोनावायरस के दौरान घर में बंद बच्चों को समझने में मदद करेंगी.

1. रूटीन सेट करें

डॉ. जॉन के मुताबिक, टीनेजर्स के हार्मोन्स में बदलाव हो रहा होता है और इस वजह से उनके दिमाग में भी बदलाव होता है. रूटीन में रहने से वो अपने इस बदलाव को मैनेज कर पाएंगे और इमोशनल टर्मोइल का सामना कर पाएंगे. इसलिए उनके दिन के लिए एक रूटीन सेट करें ताकि वो आसानी से काम कर सकें.

2. खुद डिसीजन लेने दें

कैसी भी स्थिति क्यों न हों लेकिन यह जरूरी है कि वो इसे अपना मानें. यह उनके रूटीन में भी उनकी मदद करेगा. किसी भी टीनेजर को यह अच्छा नहीं लगता कि सबकुछ उनके कंट्रोल से बाहर हो. इस वजह से जब भी बात उनकी पर्सनल लाइफ की आए तो उन्हें खुद अपने फैसलें लेने दें.

19pk5uq8

3. रूल्स में थोड़ी राहत दें

यह थोड़ी अलग परिस्थिति है और इस वजह से आप हमेशा टीनेजर्स से उम्मीद नहीं कर सकते कि वो पहले की तरह सभी नियमों को माने. इस वजह से इसमें कोई दोराय नहीं है कि नॉर्मल नियमों में आपको उन्हें राहत देनी चाहिए.

Comments

4. जिम्मेदारी दें

यह टीनेजर्स के लिए जिम्मेदारियों के बारे में सीखने के लिए सही समय है और शायद यह स्किल जिंदगीभर उनके काम आए. आप उनसे घर का काम करा सकते हैं. डॉ. जॉन का कहना है कि यह जरूरी है कि उन्हें ऐसा महसूस हो कि उनकी भी कुछ भागीदारी है. बच्चों को इस दौरान काम सिखाना उनके लिए काफी लाभकारी है.



फैशन, ब्‍यूटी, हेल्‍थ, ट्रैवल, प्रेग्‍नेंसी, पेरेंटिंग, सेक्‍स और रिलेशनश‍िप से जुड़े तमाम अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.

ADVERTISEMENT