NDTVBusinessHindiMoviesCricketHealthFoodTechAutoதமிழ்বাংলাAppsTrainsArt
ADVERTISEMENT

भारत के इस राज्य में अस्पताल में नहीं घरों में होती बच्चों की डिलीवरी

भारत के इस सबसे बड़े राज्य में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में ही होते हैं.

भारत के इस राज्य में अस्पताल में नहीं घरों में होती बच्चों की डिलीवरी

इस राज्य में अस्पतालों से ज्यादा घरों में होता है प्रसव

सैंपल रजिस्ट्रेशन सिस्टम (SRS) की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में होते हैं. इसकी वजह अस्पतालों की कमी या फिर प्रसव को घरों में ही करने की परंपरा हो सकती है. हालांकि, उत्तर प्रदेश में 2014-16 में मातृ मृत्युदर (एमएमआर) में 30 फीसदी की कमी आई है. देश में मातृ मृत्युदर का राष्ट्रीय औसत 22 फीसदी है.

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, एमएमआर में 1990 के प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर 556 मामले के मुकाबले 2016 में यह प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर यह 130 मामले रहे. ऐसे में एमएमआर में 77 फीसदी की गिरावट आई है.
प्रेग्नेंसी के दौरान Smoke करने से गर्भ में पल रहे बच्चे के साथ होता है ये
Comments
प्रसव के दौरान होने वाली मृत्युदर में जबरदस्त कमी पर यूनिसेफ की भारत में राष्ट्रीय प्रतिनिधि यास्मीन अली हक ने इसकी सराहना करते हुए कहा कि भारत ने इसमें शानदार सफलता पाई है. उन्होंने कहा कि अब 2013 की तुलना में हर प्रसव संबंधित जटिलताओं के कारण लगभग 1000 कम मांओं की मृत्यु होती है.
 बचपन में बच्चों को खिलाएं ये FOOD, कभी नहीं होगी कोलेस्ट्रॉल की परेशानी


फैशन, ब्‍यूटी, हेल्‍थ, ट्रैवल, प्रेग्‍नेंसी, पेरेंटिंग, सेक्‍स और रिलेशनश‍िप से जुड़े तमाम अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.

ADVERTISEMENT